आईसीसी वर्ड कप इंडिया VS आस्ट्रेलिया: मैच के रहे 5 टर्निंग पॉइंट्स, नहीं तो कुछ और होता रिजल्ट




यूनिक समय, नई दिल्ली। भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 36 रन से हराकर वर्ल्ड कप में अपने विजयी रथ को आगे बढ़ा दिया है। भारतीय खिलाड़ियों ने पहले ऑस्ट्रेलिया के सामने अच्छा स्कोर खड़ा किया और उसके बाद अच्छी गेंदबाजी के दम पर उन्हें यह लक्ष्य पूरा करने से रोक दिया। इस मैच में कई ऐसे टर्निंग पाइंट्स थे, जिन्होंने मैच का रुख बदल दिया और वो मैच के अहम पल साबित हुए। जानते हैं वो 5 टर्निंग पॉइंट्स, जो मैच के नतीजे बदल सकते थे।

रोहित शर्मा हो जाते जल्दी आउट

मैच शुरू होने के कुछ देर बाद ही सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को कैट छूट गया था, जब वो सिर्फ 2 रन पर खेल रहे थे। यह जीवनदान मिलने के बाद उन्होंने शिखर धवन के साथ लंबी साझेदारी की और भारत की अच्छी शुरुआत करने में मदद की। यह कैच नाथन कुल्टर नाइल ने छोड़ दिया था।

हार्दिक पांड्या का कैच छूटा

भारत की पारी में आखिरी ओवर्स में हार्दिक पांड्या की धमाकेदार बल्लेबाजी से भारत को काफी मदद मिली। उन्होंने 27 गेंदों पर 48 रन बनाए थे। लेकिन जब वो खेलने आए तो आते ही उनका एक कैच छूटा और उन्हें आगे खेलने का मौका मिला। इस वक्त उन्होंने 0 रन बनाए थे। अगर वो इस वक्त आउट हो जाते तो भारत का स्कोर शायद कुछ और हो सकता था।

एक ही ओवर में आउट हो गए स्मिथ और स्टोइनिस

ऑस्ट्रेलिया की पारी का 40वां ओवर ऑस्ट्रेलिया के लिए खतरनाक साबित हुए। एक ही ओवर में मार्कस स्टोइनिस और स्मिथ के होने से भारत को काफी फायदा मिला और काफी समय से क्रीज पर टिके हुए बल्लेबाज के आउट होने से मैच का रुख बदल गया। हो सकता है ये साझेदारी भारत के पक्ष में आ रहे नतीजे को बदल सकते थे।

मैक्सवेल का विकेट

स्मिथ और स्टोइनिस के आउट होने के बाद ग्लेन मैक्सवेल को आउट करना जरूरी था, क्योंकि उन्होंने आते ही अपनी धमाकेदार पारी की शुरुआत कर दी थी। हालांकि जैसे ही उनका बल्ला चलना शुरू हुआ, उसके कुछ देर बाद ही वो चहल का शिकार हुए और भारत ने मैच में बढ़त बनाना शुरू कर दी।

अच्छी गेंदबाजी और बल्लेबाजी
ऐसे कई टर्निंग पॉइंट्स थे, जिससे मैच का रुख पूरी तरह बदल गया और वो पल मैच में अहम साबित हुए। हालांकि भारतीय खिलाड़ियों ने अच्छी बल्लेबाजी और गेंदबाजी की, जिसकी वजह से भारत को यह जीत नसीब हुई।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*