3000 करोड़ के लोन केस में बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र के सीईओ और सीएमडी गिरफ्तार




नई दिल्ली। बैंक ऑफ महाराष्ट्र के एमडी और सीईओ को पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इन दोनों बड़े अधिकारियों पर आरोप है कि उन्होंने दिवालिया हो चुके डीएस कुलकर्णी को गलत तरीके से लोन उपलब्ध करवाया था।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस ने बैक के उच्च अधिकारियों को भी इस मामले में गिरफ्तार किया है। सीईओ एवं सीएमडी रविंद्र मराठे ने डीएस कुलकर्णी को कर्जा देने में मदद की थी। बतौर मीडिया बुधवार को ही इस मामले में आरोपियों को कोर्ट में पेश किया जा सकता है।
पुलिस ने जांच में पाया है कि बैंक ऑफ महाराष्ट्र के सीईओ रविंद्र मराठे समेत बैंक के कई अधिकारियों ने दिवालिया हो चुके बिल्डर डीएस के को लोन दिया।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बैंक के अधिकारियों को जानकारी थी कि कुलकर्णी दिवालिया है उसके बावजूद उसे लोन दिया गया. इस गंभीर आरोप के बाद ने बैंक के सीईओ रविंद मराठे, बैंक के अधिकारी सुशील मुनहोत, आर. के. गुप्ता, नित्यानंद देशपांडे, एमएस. घाटपांडे (सीए), राजीव नेवासकर (चीफ इंजीनियर) को भी गिरफ्तार कर लिया है




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*