सावधान: लौकी का जूस पीने के बाद सॉफ्टवेयर इंजीनियर की मौत!




नई दिल्ली। आपने अक्सर सुना होगा कि लोग खुद को स्लिम ट्रिम रखने के लिए कई तरह के फलों और सब्जियों के जूस का सेवन करते हैं और इनमें से लौकी का जूस भी एक है। आयुर्वेद में भी लौकी के जूस को सेहतमंद बताया गया है। ऐसा कहा जाता है कि लौकी के जूस का यदि खाली पेट सेवन किया जाए तो इससे डायबिटीज और हृदयरोग जैसी कई बीमारियों से निपटा जा सकता है।लेकिन महाराष्ट्र की एक महिला के लिए लौकी का जूस पीना इतना घातक साबित हुआ कि उन्हें इसकी कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। 42 साल की सॉफ्टवेयर इंजीनियर गौरी शाह सेहत को लेकर इतनी जागरूक थी कि हर रोज एक्सरसाइज करना उनकी दिनचर्या में शामिल था। पिछले कुछ दिनों से वह फलों और सब्जियों के जूस का सेवन कर रहीं थीं।11 जून को जॉगिंग करने के बाद जब गौरी घर आईं तो उन्होंने घर पर लौकी और गाजर का मिक्स जूस बनाकर पिया। इसके आधे घंटे बाद उन्हें उल्टी होना शुरू हो गया। तबियत ज्यादा बिगड़ने पर उन्हें नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया। तीन दिन अस्पताल में भर्ती रहने के बाद भी डॉक्टर उनकी जान बचाने में नाकाम रहे। शरीर में फैले जहर की वजह से गौरी को खून की उल्टियां हुईं और बाद में ब्रेन हैमरेज होने से उनकी मौत हो गई।डॉक्टरों का कहना है कभी भी अगर लौकी का जूस कड़वा है तो इसे पीने से परहेज करना चाहिए क्योंकि यह सेहत के लिए घातक साबित हो सकता। जहरीले रसायनों के कारण लौकी में कड़वाहट आती है और इसका असर एक धीमे जहर की तरह होता है जिससे व्यक्ति को बेचैनी, दस्त, और खून की उल्टियां होने लगती हैं।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*