पेट्रोल, डीजल को भी जीएसटी के तहत लाया जाए: राहुल

Share the news....Share on FacebookShare on Google+Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘‘अत्यधिक मुनाफाखोरी’’ को रोकने के लिए पेट्रोल और डीजल को भी जीएसटी के तहत लाने की मांग की है। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को नए कर सुधार को अगले चुनाव में लाभ के तौर पर नहीं देखना चाहिए। उन्होंने ट्वीट किया, ”‘एक देश, सात कर’, अनेक फार्म भरने और करदाता की कठोर शक्तियों में सुधार का वक्त। इसे वाकपटुता से परे ‘अच्छा’ और ‘सरल’ बनाएं।’’
अनेक ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘‘उम्मीद करता हूं कि मोदी जी ने आर्थिक गिरावट और जीएसटी गडबड़ी को लोगों की परेशानी को दूर करने के चश्मे से देखा होगा न कि अगले चुनाव में लाभ के तौर पर।’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘तब पहला कदम अत्यधिक मुनाफाखोरी को रोकने के लिए पेट्रोल, डीजल को भी जीएसटी के तहत लाने का होगा क्योंकि जीओआई अकेले 2,73,000 करोड़ रुपए कमाती है।
कांग्रेस के ट्विटर हैंडल से एक वीडियो मैसेज में उन्होंने सरकार से छोटे और मझोले व्यापारों को समर्थन देने के लिए कहा। उन्होंने प्रधानमंत्री से रोजगार के अवसर पैदा करने पर भी ध्यान देने को कहा। कांग्रेस ने जीएसटी की दर में कमी को ‘‘काफी कम, काफी देर’’ करार दिया और कहा कि नए कर सुधार कदम में लोगों की चिंताओं को दूर करने के लिए और ज्यादा करने की आवश्यकता थी। पार्टी के संचार प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ‘‘ काफी कम, काफी देर। प्रक्रियात्मक राहतें मोदी सरकार द्वारा जीएसटी के मूल ढांचे में की गई गड़बड़ी की भरपाई नहीं कर सकेंगी।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*