गांव-गरीब की सरकार जनता के द्वारः  ऊर्जा मंत्री




ऊर्जा मंत्री ने कारव में रात्रि चैपाल लगाकर सुनी जनसमस्याएं
ग्रामीणों की समस्याएं सुनकर अधिकारियों को निस्तारण के निर्देश दिये
गोद लिए गांव की तरह विकास योजनाओं की मिलेगी हर सुविधा
खारे पानी की समस्या से निजात केे लिए टीटीएसपी लगवाने के निर्देश
हर घर में शौचालय जरूरी है, साफ-सफाई का स्वयं संकल्प लें
तालाब, पोखर तथा शमसान भूमि से अवैध कब्जा हटवाने के निर्देश
राया में जाम से मुक्ति के लिए एलीवेटेड रोड़ बनवाया जायेगा
किसी भी स्तर पर भ्रष्टाचार स्वीकार नहीं किया जायेगा
समय से बिल जमा करने पर 5 प्रतिशत की छूट मिलेगी
जर्जर तारों से मिलेगी मुक्ति, रबड़ चढे़ तारों से नहीं रहेगा खतरा
2023 तक पुराने पम्पसेटों की जगह समरसेबिल पम्पसेट होंगे
सरकार ने पूरे प्रदेश से डार्कजोन समाप्त कर दिया है
चैपाल में जनपद के सभी वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे
मथुरा। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा जी ने तहसील महावन के गांव कारव में जन चैपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याओं से सीधे संवाद किया और समस्या के निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों को चेक करने के लिए सरकार जनता के द्वार पर है, जिसमें विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित किये जा रहे लाभार्थियों तथा जो पात्र व्यक्ति इन योजनाओं के लाभ से वंचित रह गये हैं उन्हें तत्काल जन कल्याणकारी योजनाओं का दिलाने के लिए संबंधित अधिकारियों को कड़े निर्देश दिये। उन्होंने 8 जून की सांय 7 से रात्रि 10.30 बजे तक चैपाल में जन समस्याएं सुनने के पश्चात गांव कारव में ही रात्रि विश्राम भी किया।
गांव कारव में रात्रि चैपाल के दौरान मंत्री जी ने आमजनता को संबोधित करते हुए कहा कि यह सरकार गांव-गरीब की सरकार है इसलिए सरकार के प्रतिनिधि रात्रि प्रवास कर रहे हैं इससे सरकार द्वारा किये जा रहे कार्यों की क्राॅस चेकिंग भी की जा रही है कि गांव के लोगों को वास्तविक रूप से लाभ मिल रहा है अथवा नहीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने बदलाव की शुरूआत की है और 2022 तक किसानों की आय को दोगुना निश्चितरूप से करेगी। अब मात्र 12 रूपये साल के हिसाब से दुर्घटना बीमा किया जाता है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि किसानों को आर्थिकरूप से आत्म निर्भर बनाने के लिए सरकार निरन्तर प्रयासरत है। आने वाले समय में फसल बीमा के तहत मात्र दो प्रतिशत लाभार्थी को जमा करना होगा और 98 प्रतिशत सरकार प्रीमियत अदा करेगी।
उन्होंने बताया कि सरकार किसानों को सुरक्षा कवच देने का कार्य कर रही है। सन् 2023 तक पुराने पम्पसेट की जगह समरसेबिल पम्पसेट लगवाये जायेंगे, जिससे किसान घर बैठे ही मोबाइल के माध्यम से आॅन-आॅफ कर सकेंगे। आगामी दिसम्बर तक जर्जर तारों को बदलकर नये रबड़ चढ़े तार लगाये जा रहे हैं, जिससे किसी प्रकार की जनहानि होने की समस्या नहीं रहेगी। उन्होंने बताया कि जो लोग समय से बिल का भुगतान करते हैं उन्हें सरकार पांच प्रतिशत अनुदान/छूट प्रदान करेेगी।
किसानों की समस्या को ध्यान में रखते हुए पूरे प्रदेश में डार्कजोन को समाप्त कर दिया गया है। बीपीएल धारकों को मुफ्त में विद्युत कनेक्शन दिये जा रहे हैं तथा आमजनता को 50 रूपये की आसान किश्तों पर घर-घर जाकर कनेक्शन उपलब्ध कराये जा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि 31 दिसम्बर तक हर घर में बिजली उपलब्ध होगी। सरकार जनहित में 6.74 रूपये प्रति यूनिट की लागत से उपलब्ध होने वाली विद्युत को मात्र 1.10 रूपये में उपलब्ध करा रही है। शेष 5.64 रूपये सरकार खर्च रही है। बल्देव क्षेत्र में जर्जर तारों की समस्या तथा ट्रान्सफार्मर की समस्या की निजात के लिए दो माह में व्यवस्था सुधार ली जायेगी, जिससे क्षेत्रवासियों को 18 से 20 घण्टे विद्युत आपूर्ति मिलेगी। सरकार ने किसानों को आलू का सही दाम मुहैया कराया गया है। किसानों को कृषि यंत्रों पर सब्सिडी दी जा रही है और हर गांव को पक्की सड़क से जोड़ा जा रहा है। पात्र गरीब लोगों को उनका राशन दिया जा रहा है, उनके हक पर किसी दूसरे का अधिकार नहीं है।
ब्रज को तीर्थ स्थल घोषित किया गया है, जिससे मांस-मदिरा की विक्री पर पूर्णत प्रतिबन्धित रहेगा इसके लिए पवित्रता बनाये रखने की जिम्मेदारी के लिए हम सभी को संकल्प लेना होगा और अपने घर सहित आस-पास की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान देना होगा। हर घर में शौचालय जरूरी है, जिसके लिए गरीब लोगों को 12 हजार रूपये पुरस्कार के रूप में दिये जा रहे हैं।
इस अवसर पर अधिकारियों ने केन्द्र/प्रदेश सरकार की योजनाओं-प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री सहजघर योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, सुरक्षा बीमा योजना, आयुष्मान भारत योजना, मात्रवन्दना योजना तथा क्षय रोगियों के लिए निःशुल्क उपचार के साथ ही पांच सौ रूपये का अनुदान योजना सहित विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से अवगत कराया गया।
ग्रामीण वासियों ने तालाब, पोखरों व शमसान भूमि से अवैध कब्जे हटवाने, खेलकूद मैदान की मांग, खारे पानी की समस्या, बिजली खम्भे, बिल एवं तार, पचावर माइनर में पानी न आने की समस्या, सड़कों का जीर्णोंद्वार, स्वतत्रंता संग्राम सेनानी द्वार बनवाने की मांग, जलभराव, अपात्रों को राशनकार्ड, मृदा स्वास्थ्य परीक्षण संबंधी समस्याओं से अवगत कराया जिस पर मा0 मंत्री जी ने विभागीय अधिकारियों को चैपाल में ही जनता से सीधा संवाद कराकर समस्या का निस्तारण कराने के निर्देश दिये।
रात्रि कालीन चैपाल में सीडीओ रामनिवास गुप्ता, एसडीएम महावन उपमा पाण्डेय, विद्युत विभाग के मुख्य अभियंता सुबोध कुमार शर्मा, अधिशासी अभियंता विनोद गंगवार, पीडी आर0के0 त्रिवेदी, डीडीओ प्रदीप कुमार यादव, सीएमओ डाॅ0 शेर सिंह, बीडीओ श्वेतांक पाण्डे विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीगण, पूर्व विधायक प्रणपाल सिंह, अवधेश उपाध्याय, प्रदीप गोस्वामी, गजेन्द्र चैधरी, सुरेन्द्र प्रधान, नितिन दिवाकर, राजू यादव सहित हजारों की संख्या में क्षेत्रीय ग्रामीणवासी उपस्थित थे।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*