राहुल गांधी का तंज: मेरे खिलाफ लिखने वालों पर हुआ एक्शन तो खाली हो जाएंगे..




लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ सोशल मीडिया पोस्ट लिखने वाले पत्रकार प्रशांत कनौजिया की गिरफ्तारी चर्चा में है। सुप्रीम कोर्ट ने मामले में संज्ञान लेते हुए इसे अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकार का हनन माना है। कोर्ट ने पत्रकार को तुरंत जमानत देने के आदेश दिए हैं. वहीं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी इस मामले पर तंज कसा है। राहुल गांधी ने मंगलवार को पत्रकार प्रशांत कनौजिया के मामले में ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, ‘अगर इस तरह मेरे खिलाफ लिखने वाले पत्रकारों पर एक्शन शुरू हुआ, तो मीडिया हाउस में स्टाफ की कमी पड़ जाएगी।’

 

राहुल गांधी ने किया ये ट्वीट
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, ‘अगर हर पत्रकार जो मेरे खिलाफ फर्जी आरोप लगाकर, RSS/BJP का प्रायोजित एजेंडा चलाते हैं, अगर उन्हें जेल में डाल दिया गया तो न्यूज़पेपर और न्यूज़ चैनलों में स्टाफ की कमी हो जाएगी. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री मूर्खतापूर्ण रवैया अपना रहे हैं, गिरफ्तार किए गए पत्रकारों को तुरंत रिहा करने की जरूरत है।’

क्या है पूरा मामला?
बता दें कि प्रशांत कनौजिया ने बीते दिनों यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को लेकर फेसबुक एक वीडियो शेयर किया था. पुलिस के मुताबिक, उन्होंने अपने पोस्ट में योगी को लेकर आपत्तिजनक बातें भी लिखी थीं. जिसके बाद कनौजिया को गिरफ्तार कर लिया गया था.

पत्रकार की बीवी ने लगाई थी अर्जी
प्रशांत की पत्नी जगीशा अरोड़ा ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाते हुए इस गिरफ्तारी को चुनौती दी थी. उनकी अर्जी में कहा गया है कि पत्रकार पर लगाई गईं धाराएं जमानती अपराध में आती हैं. ऐसे मामले में कस्टडी में नहीं भेजा जा सकता. याचिका पर तुरंत सुनवाई की जरूरत है, क्योंकि यह गिरफ्तारी अवैध और असंवैधानिक है. पत्नी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को सुनवाई करते हुए पत्रकार को तुरंत रिहा करने के आदेश दिए.




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*