कदम-कदम पर गड्ढे, श्रद्धालु चलना जरा संभल के.




मथुरा। गिरिराज महाराज तक पहुंचने की राह बहुत कठिन हो गई है। मथुरा से गोवर्धन के लिए 22 किलोमीटर तक के रास्ते में कदम-कदम पर गड्ढे हैं। सड़क इस कदर खराब है कि दोपहिया वाहन ही नहीं, चौपहिया वाहन भी हिचकोले खाते हुए निकलते हैं। इनके दुर्घटनाग्रस्त होने की संभावना हर वक्त बनी रहती है।

ब्रज दर्शन को आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या निरंतर बढ़ रही है। एक अनुमान के मुताबिक यह आंकड़ा चार करोड़ से अधिक है। इसमें वृंदावन बिहारी जी के दर्शन के बाद सबसे बड़ी संख्या गोवर्धन में गिरिराज परिक्रमा को आने वालों की है। मथुरा से गोवर्धन तक का रास्ता गड्ढा युक्त है, जिससे होकर भक्त गिरिराजजी की परिक्रमा को पहुंचते हैं। इस 22 किलोमीटर के रास्ते में जगह-जगह गड्ढे हैं। दोपहिया वाहन इन गड्ढों से आए दिन दुर्घटनाग्रस्त होते रहते हैं। सबसे ज्यादा खराब स्थित अडींग, जचौंदा, खामनी, सतोहा, जमुनावता पर है। गोवर्धन को अधिकारी तो प्रत्येक दिन जाते हैं, लेकिन उन्हें इन गड्ढों का अहसास नहीं होता है। मुसीबत बना अधूरा सीसी निर्माण गोवर्धन चौराहा से श्रीजी बाबा सरस्वती विद्यालय तक सीसी सड़क का अधूरा निर्माण एक और गंभीर समस्या है। पीडब्ल्यूडी ने बीच में कच्चा खाली स्थान छोड़ दिया है। इससे उड़ती धूल परेशानी का बड़ा कारण है। इसके अलावा सीसी सड़क की ऊंचाई और आम रास्ता नीचा होने से वाहन आए दिन पलटते हैं। पिछले दो साल से यह काम रुका हुआ है। शिकायत के बाद भी अधिकारी इस पर ध्यान नहीं दे रहे हैं।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*