तहसील में पेड़ पर चढ़ी महिला, बोली जान दे दूंगी




छाता तहसील में मंगलवार की दोपहर को करीब 12 बजे उस वक्त अफरातफरी मच गई जब एक महिला तहसील में पेड़ पर चढ़ गई और आत्महत्या करने को कहने लगी। महिला का कहना था कि दबंगों ने उसके प्लाट और जमीन पर कब्जा कर रखा है लेकिन अधिकारी सुनवाई नहीं कर रहे। बाद में कार्रवाई का भरोसा देकर महिला को किसी तरह नीचे उतारा गया।
छाता तहसील के गांव सुजावली निवासी महिला सोना के पति नहीं हैं। विधवा सोना पिछले कई माह से परेशान है। उसके मुताबिक गांव के दबंगों ने उसके प्लाट और मकान पर कब्जा कर लिया है। चकरोड को भी संकरा कर दिया है। इसे लेकर तहसील से लेकर पुलिस थाने तक चक्कर लगाए हैं, लेकिन किसी भी स्तर पर कोई सुनवाई नहीं हुई।

आखिरकार यह परेशान महिला मंगलवार को तहसील प्रांगण में चल रहे संपूर्ण समाधान दिवस में पहुंची और एसडीएम कार्यालय के सामने पेड़ पर चढ़ते हुए आत्महत्या की बात कहने लगी। लोगों ने उसे ऐसा न करने की सलाह भी दी, लेकिन महिला ने पेड़ पर चढ़कर साफ कहा कि वह तंग आ चुकी है, अफसर सुनते नहीं हैं।

इस घटनाक्रम की भनक लगते ही संपूर्ण समाधान दिवस में मौजूद अफसरों के भी हाथ पांव फूल गए। एसडीएम सहित स्थल पर पहुंचकर महिला को मनाने लगे। मिन्नतों के बाद जैसे-तैसे महिला पेड़ से नीचे आई। इसके बाद उसने अपनी व्यथा एसडीएम को सुनाई। एसडीएम ने मामले में जांच के आदेश दिए हैं।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*