मौसम अलर्ट: 17 और 18 जून को पश्चिमी यूपी में धूल भरी आंधी के आसार




लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कई स्थानों पर गुरुवार को भी धुंध छाई रही और गर्मी से लोग बेहाल रहे। मौसम विभाग का अनुमान है कि शुक्रवार और शनिवार को भी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में धूल भरी आंधी आ सकती है। पश्चिमी यूपी के अलावा राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, चण्डीगढ़ और दिल्ली में भी 25 से 35 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से धूल भरी आंधी आने की चेतावनी भी जारी की गयी है।
शुक्रवार को पूर्वी यूपी के कुछ हिस्सों में गरज-चमक के साथ बौछारें भी पड़ सकती हैं। इसके बाद 17 और 18 जून को पूरे उत्तर प्रदेश में आंधी-पानी के आसार बन रहे हैं। गुरुवार को राजधानी लखनऊ और आसपास के अन्य जिलों में भी धुंध बनी रही। पुरवाई हवा के चलते उमस और चिपचिपी गर्मी से जनजीवन बेहाल रहा। मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि जब तक बारिश नहीं होगी, आकाश में यह धुंध बनी रहेगी।
मुरादाबाद। आसमान पर छाई धुंध के साथ ही उमस भरी गर्मी ने लोगों को बेहाल कर दिया। गुरुवार को दिन चढ़ने के साथ ही तापमान तेजी के साथ बढ़ता गया। गुरुवार को दिन का अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस रहा। यह बुधवार की तुलना में डेढ़ डिग्री सेल्सियस कम रहा, लेकिन बढ़ी उमस ने तापमान में मामूली कमी को बेअसर कर दिया। भारी उमस के चलते लोग पसीने से तरबतर हो उठे। वातावरण में आद्र्रता का स्तर 75 फीसदी से अधिक हो गया। विशेषज्ञों ने उमस में और ज्यादा बढ़ोत्तरी होने की संभावना जाहिर की है।
पश्चिम भारत की धूल भरी आंधी की वजह से राजधानी देहरादून में सांस लेना मुश्किल हो गया है। देहरादून में हवा की गुणवत्ता खतरनाक स्तर पर है। मौसम विज्ञान केंद्र ने चेतावनी दी है कि अगले तीन-चार दिन तक धूल भरी आंधी चल सकती है। इसकी अधिकतम रफ्तार 100 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है। लोगों को लंबे समय तक घर से बाहर न रहने की सलाह दी गई है।

उत्तराखंड पर्यावरण संरक्षण एवं प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने बुधवार को रायपुर क्षेत्र में जांच की, जिसमें पीएम-10 का स्तर 272 पाया गया। जबकि सामान्य तौर पर यहां पीएम-10 200 के आसपास रहता है। अगले 48 घंटों में विशेषकर देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल और ऊधमसिंहनगर में सबसे ज्यादा खतरा है। यहां धूल भरी आंधी 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है। वहीं ये आंधी अधिकतम 100 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार भी पकड़ सकती है। इसलिये आंधी आने पर लोग सुरक्षित जगहों पर पनह लें।

नैनीताल में दो दिनों में साढ़े आठ गुना बढ़ गया वायु प्रदूषण
नैनीताल में पीएम 2.5 का स्तर साढ़े आठ गुना बढ़ गया है। नैनीताल के आर्यभट्ट प्रेक्षण विज्ञान शोध संस्थान से मिली जानकारी के अनुसार 12 जून को नैनीताल में पीएम 2.5 का स्तर 20 पीएम था। पिछले दो दिनों में पीएम 2.5 की मात्रा साढ़े आठ गुना बढ़कर 170 माइक्रो प्रति घन मीटर हो गई है। हवा के साथ घुल गई है। उन्होंने इस स्थिति को बेहद चिंताजनक बताया है।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*