ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक ट्विट ने बढ़ाई सियासी सरगर्मी, लिखा- कुर्सी त्याग करनी पड़े तो..

ज्योतिरादित्य सिंधिया
ज्योतिरादित्य सिंधिया

ग्वालियर. मध्य प्रदेश में होने वाले उपचुनाव (BY-Election) से पहले सियासी सरगर्मी कांग्रेस  से बागी होकर बीजेपी सांसद बने ज्योतिरादित्य सिंधिया  ने बढ़ा दी है. सिंधिया ने ट्विटर पर एक पोस्ट किया है, जिसको लेकर अपने अपने कयास लगाए जा रहे हैं. हालांकि माना जा रहा है कि सिंधिया पर लग रहे आरोपों के जवाब में उन्होंने ये ट्वीट किया है. इससे पहले सिंधिया ने एक पोस्ट में सिर्फ ‘T’ लिखा था. कुछ देर बाद पोस्ट हटा ​ली गई. इसके बाद फिर एक ट्विट किया, जिसके बाद से एमपी उपचुनाव से पहले सियासी सरगर्मी तेज हो गई है.

शिवसेना का अक्षय पर तंज: मुंबई के अपमान पर अक्षय जैसे कलाकार भी नहीं बोले, बॉलीवुड पर निशाना

बता दें कि राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया पिछले तीन दिनों से ग्वालियर और चंबल में ताबड़तोड़ भूमि पूजन और शिलान्यास कर रहे हैं. सिंधिया ने बीते शनिवार की शाम को एक ट्वीट किया, जिसमें सिंधिया ने सिर्फ ‘T’ लिखा था. ट्वीट होते ही वायरल होने लगा. यूजर्स ने सवाल किए कि क्या इसका मतलब टाइगर ही है या कुछ और. हालांकि थोड़ी देर बाद इस ट्वीट को डिलीट कर दिया गया. इसके बाद सिंधिया ने एक और ट्वीट किया, जिसमें सिंधिया ने लिखा है कि ‘हम जमीनी कार्यकर्ता हैं और अपनी धरती मां से जुड़कर कार्य करने वालों में से हैं. हमें अपनी माटी, अपनी जनता के उज्ज्वल भविष्य की चिंता है और यदि उसके लिए हमें कुर्सी भी त्याग करनी पड़े तो हम पीछे नहीं हटते’.

इन आरोपों का जवाब
माना जा रहा है कि सिंधिया ने ट्वीट कर कांग्रेस के उन सवालों का जवाब दिया है, जिसमें अक्सर कांग्रेसी उनपर आरोप लगाते हैं कि पद और पैसे की लालच में सिंधिया व उनके समर्थक विधायकों ने पार्टी छोड़ी थी. बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ इसको लेकर कई बार सिंधिया की नैतिकता पर सवाल उठा चुके हैं.

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*