पाकिस्तान एफ—16 का इस्तेमाल करके फंसा, अमेरिका ने लिया ये एक्शन




नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर हमले से बौखलाए पाकिस्तान ने युद्ध के हालात पैदा करने का काम किया। पाकिस्तान की तरफ से 10 एफ-16 विमानों ने भारतीय सैन्य ठिकानों को निशाने बनाने की कोशिश की, लेकिन हमारी वायुसेना ने उनको खदेड़ दिया। भारत ने एक एफ-16 को मार गिराया जबकि बाकियों को वापस लौटने पर मजबूर कर दिया। पाकिस्तान को एफ-16 विमान अमेरिका ने दिए थे, लेकिन जब यह विमान उसको दिए गए थे उसमें एक शर्त थी। शर्त के अनुसार, अमेरिका ने पाकिस्तान को कहा था कि वह इन विमानों का प्रयोग सिर्फ अपनी धरती पर किसी दूसरे देश के हमले को रोकने के लिए करेगा और अगर वह किसी दूसरे देश के खिलाफ इनका प्रयोग युद्ध के लिए करता है तो उसे इसकी जानकारी अमेरिका को देनी पड़ेगी। लेकिन कमजोर दिमाग वाली पाकिस्तान की सेना और वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान ने बिना कुछ सोचे इन एफ-16 का इस्तेमाल भारत के खिलाफ कर दिया, जिसके बाद अमेरिका झल्ला उठा।
इसको लेकर अमेरिका ने पाकिस्तान सरकार से सवाल पूछा है कि उसने बिना अनुमति के एफ-16 विमान का प्रयोग सैन्य कार्रवाई के लिए क्यों किया। अमेरिका ने कहा है कि एफ-16 का इस्तेमाल अपने बचाव के लिए कर सकते हैं न कि सैन्य कार्रवाई के लिए। अमेरिका ने अपने हथियारों के इस्तेमाल पर नियम कड़े कर दिए हैं। अब अमेरिका ने स्पष्ट कर दिया है कि बिना उसकी अनुमति के पाकिस्तान उसके लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल सैन्य कार्रवाई में नहीं कर सकता। बता दें कि अमेरिका अपने हथियारों के इस्तेमाल पर सख्त नियम रखता है। नियमों के मुताबिक उसके द्वारा दिए गए हथियारों का इस्तेमाल देश स्थिति को जटिल बनाने एवं खुद को आक्रामक दिखाने के लिए नहीं कर सकते। पाकिस्तानी वायु सेना की ओर से भारतीय वायु सीमा का उल्लंघन किए जाने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। दोनों ही देशों रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण हवाई अड्डों को नागरिक उड़ानों के लिए बंद कर दिया है।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*