बैकफुट पर आई भाजपा: कमेंट करना प्रज्ञा ठाकुर के लिए बना मुसीबत, लगी फटकार!




नई दिल्ली। भाजपा सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने स्वच्छता अभियान का मजाक उड़ाए जाने वाले बयान पर भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष ने भाजपा कार्यालय बुलाकर झाड़ लगाई है।

बता दें रविवार को साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने एक बार फिर नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान का मजाक उड़ाते हुए कहा था कि हम सांसद नाली और शौचालय की सफाई के लिए नहीं बने हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि जो काम उन्हें दिया गया उसे कर रही हैं।

बैकफुट पर आई भाजपा
स्वच्छता पर साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का बयान एक बार फिर बीजेपी को बैकफुट पर ले आया है, जबकि विपक्ष ने साध्वी के बयान के सहारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कटघरे में खड़ा करने की कोशिश की है।

यही वजह है कि साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बयान को पार्टी ने गंभीरता से लिया और उन्हें तत्काल पार्टी मुख्यालय तलब किया गया।


जेपी नड्डा और बीएल संतोष के सामने पेश हुईं प्रज्ञा ठाकुर
स्वच्छता पर बयाने के मामले में प्रज्ञा को बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा और बीएल संतोष के सामने पेश हुईं. सूत्रों की माने तो पार्टी ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को आखिरी चेतावनी दी. जेपी नड्डा ने उन्हें चेताया कि इस तरह के बयान से बाज आएं. सूत्रों की माने तो पार्टी ने उन्हें फटकार लगाते हुए कहा कि अगर इस तरह की घटना एक बार फिर हुई तो पार्टी को उन पर कार्रवाई करने पर मजबूर होना पड़ेगा।

पहले भी प्रज्ञा के बयान कर चुके हैं पार्टी की फजीहत
दरअसल ये पहली बार नहीं है जब साध्वी प्रज्ञा के बयान से पार्टी की फजीहत हुई है. इससे पहले महात्मा गांधी को लेकर वह विवादित बयान दे चुकी है, जिस पर पीएम ने कड़ा रुख अख्तियार किया था. यही नहीं, उन्‍हें इस मामले में पार्टी ने नोटिस भी जारी किया था. जबकि वह हेमंत करकरे को लेकर भी विवादित बयान देने के कारण चर्चा में रही हैं।

प्रज्ञा ठाकुर ने दिया था ये बयान
रविवार को सीहोर पहुंची बीजेपी की नई फायर ब्रांड नेत्री और भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने क्रीसेंट चौराहे पर बने पीडब्लूडी के सर्किट हॉउस में बीजेपी के कार्यकर्ताओं से मिलने आईं थी. इस दौरान उन्होंने कहा कि मैं सांसद नाली साफ़ करने और शौचालय साफ़ करने के लिए नहीं बनी हूं. साध्वी प्रज्ञा ने कहा, ‘ध्यान रखिए, हमें नाली साफ करवाने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है. हमें आपके शौचालय साफ करवाने के लिए सांसद नहीं बनाया गया है. हम जिस काम के लिए बनाए गए हैं, वह काम हम ईमानदारी से करेंगे।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*