जहरीले सांप ने 11 साल की कश्मीरी बच्ची को डसा, सेना ने ऐसे बचाई जान!




श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में जहां एक तरफ भारतीय सेना के खिलाफ अलगाववादी और आतंकी संगठन अफवाह फैला रहे हैं. वहीं भारतीय सेना लगातार कश्मीरियों की सुरक्षा के साथ-साथ उनका विश्वास हासिल करने के लिए भी जी-जान से जुटी हुई है. भारतीय सेना से जुड़ी एक ऐसी ही घटना सामने आई है जिसमें सेना की सूझ-बूझ के चलते एक मासूम कश्मीरी बच्ची की जान बच गई।

ammu and Kashmir, Indian Army, eleven year old girl, poisonous snake, army hospital

दरअसल 11 साल की यास्मीन को एक जहरीले सांप ने डस लिया था लेकिन आर्मी हॉस्पिटल की मेहनत और वक़्त पर इलाज करने के चलते उसकी जान बचाई जा सकी. अस्पताल के आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि बच्ची को गंभीर हालत में अस्पताल में लाया गया था. हालांकि उचित इलाज के द्वारा उसकी जान बचा लिया गया. इस समय बच्ची खतरे से पूरी तरह बाहर है और अगले 72 घंटों के बाद उसे हास्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया जाएगा.

ammu and Kashmir, Indian Army, eleven year old girl, poisonous snake, army hospital

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 को हटाने के बाद कई तरह की भ्रांतियां फैलायी जा रही है. विशेष रूप से पाकिस्तान और राज्य के अलगाववादी व उनके समर्थकों द्वारा राज्य के हालात को जानबूझ कर खराब करने का प्रयास किया जा रहा है. हालांकि भारतीय सेना इसका जवाब देने के लिए तैयार है. सेना ने इस दुष्‍प्रचार का जवाब ‘आर्मी फॉर अवाम’ फॉर्मूला से देने की तैयारी की है.

जवान सिर्फ देश की सुरक्षा ही नहीं बल्कि लोगों की मदद के लिए भी है
इस अभियान के तहत सेना लोगों के बीच अपनी एक अलग छाप छोड़ने की कोशिश करेगी. सेना जम्‍मू-कश्‍मीर की अवाम को यह बताने की कोशिश करेगी कि जवान सिर्फ देश की सुरक्षा के लिए ही नहीं हैं, बल्कि विपरीत परिस्थितियों में वह लोगों की हरसंभव मदद कर सकते हैं. इस अभियान के तहत देशभर में लोगों की सेवा कर रहे जवानों के कार्यों का सोशल मीडिया पर बढ़-चढ़कर प्रचार प्रसार किया जाएगा. ऐसा करने से सोशल मीडिया पर दुष्‍प्रचार करने वाले लोगों को मुंहतोड़ जवाब दिया जा सकेगा.

शेहला रशीद ने सेना के खिलाफ फैलाया था झूठ
उल्लेखनीय है कि जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी की पूर्व छात्र नेता और पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद पर राज्य के हालात के संदर्भ में भारतीय सेना के खिलाफ झूठी खबरें फैलाने का आरोप है. उन्होंने भारतीय सेना पर रात में कश्‍मीर के लोगों के घरों में घुसने, गैर-कानूनी रूप से लड़कों को उठाने, घरों में छानबीन करने, रखे चावल में तेल मिलाने, शोपियां में कश्‍मीरी लड़कों को बंधक बनाकर दहशत फैलाने के आरोप लगाए थे.

हालांकि सेना ने शेहला के इन आरोपों को बेबुनियाद बताया था. सेना के बयान के बाद अब सुप्रीम कोर्ट के वकील अलख आलोक श्रीवास्तव ने शेहला रशीद पर फ़र्जी खबरें पोस्ट करने का आरोप लगाते हुए आपराधिक मामला दर्ज करने के साथ उनकी गिरफ्तारी की मांग की. उनके इन आरोपों को गंभीरता से लेते हुए शेहला के खिलाफ दिल्‍ली पुलिस की स्‍पेशल सेल ने देशद्रोह के साथ अन्‍य धाराओं में एफआईआर दर्ज की है.




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*