अगर कोई आपकी बाइक चुरा लेता है तो तुरंत पकड़ा जाएगा, जानिए कैसे!




नई दिल्ली अगर आपको इस बात की चिंता है कि कहीं आपकी बाइक, कार या स्कूटर चोरी न हो जाए तो अब परेशान होने की जरूरत नहीं. क्योंकि आप अपने व्हिकल को मोबाइल सिम की मदद से सुरक्षित कर सकते हैं. मार्केट में अब ऐसे कई डिवाइस मौजूद हैं, जिनमें सिम लगाकर आप उसे अपने गाड़ी में छिपा सकते हैं और व्हीकल के चोरी होने पर उसे तुरंत ट्रैक कर सकते हैं.

 इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस बनाने वाली कंपनी iMars ने माइक्रो GPS ट्रैकर लॉन्च किया है, जिसमें सिम लगाया जा सकता है. इसके बाद इसे व्हीकल के बैटरी से कनेक्ट कर छिपा दिया जाता है. अब यूजर को अपने स्मार्टफोन में इससे जुड़ा ऐप इन्सटॉल करना होता है और जब आपके बिना कोई और इस गाड़ी को चलाने जा रहा हो या चलाने की कोशिश कर रहा हो, तो फोन पर अलर्ट आ जाता है.

इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस बनाने वाली कंपनी iMars ने माइक्रो GPS ट्रैकर लॉन्च किया है, जिसमें सिम लगाया जा सकता है. इसके बाद इसे व्हीकल के बैटरी से कनेक्ट कर छिपा दिया जाता है. अब यूजर को अपने स्मार्टफोन में इससे जुड़ा ऐप इन्सटॉल करना होता है और जब आपके बिना कोई और इस गाड़ी को चलाने जा रहा हो या चलाने की कोशिश कर रहा हो, तो फोन पर अलर्ट आ जाता है.

 इस डिवाइस में आपको एक माइक्रो सिम लगाना होगा. डिवाइस में 3 वायर दिए गए हैं, जिसमें से दो बैटरी और एक इग्निशियन में लगाना होता है. इसमें ब्लैक वायर को बैटरी के निगेटिव, रेड को बैटरी के पॉजिटिव प्वाइंट से कनेक्ट करना होता है. वहीं ऑरेंज कलर के वायर को इग्निशियन के निगेटिव प्वाइंट से कनेक्ट करना होता है.

इस डिवाइस में आपको एक माइक्रो सिम लगाना होगा. डिवाइस में 3 वायर दिए गए हैं, जिसमें से दो बैटरी और एक इग्निशियन में लगाना होता है. इसमें ब्लैक वायर को बैटरी के निगेटिव, रेड को बैटरी के पॉजिटिव प्वाइंट से कनेक्ट करना होता है. वहीं ऑरेंज कलर के वायर को इग्निशियन के निगेटिव प्वाइंट से कनेक्ट करना होता है.

 गाड़ी में डिवाइस को फिट करने के बाद उसमें सिम लगा दें. इसके बाद डिवाइस की लाइट ऑन हो जाएगी और यह काम करना शुरू कर देगा. इसके बाद आपको डिवाइस के मैनुअल में दिए QR कोड को स्कैन करना होगा और फिर LKGPS ऐप का लिंक ओपन हो जाएगा. ऐसा करने के बाद ऐप को इन्स्टॉल करें ले और फिर लॉगिन करें. यहां से आप गाड़ी की लोकेशन ट्रैक कर सकते हैं. ऐप में आप गाड़ी की रीडिंग भी देख सकते हैं. इसके अलावा गाड़ी के साथ अगर कोई छेड़छाड़ होती है तो तुरंत आपको अलर्ट आ जाएगा.

गाड़ी में डिवाइस को फिट करने के बाद उसमें सिम लगा दें. इसके बाद डिवाइस की लाइट ऑन हो जाएगी और यह काम करना शुरू कर देगा. इसके बाद आपको डिवाइस के मैनुअल में दिए QR कोड को स्कैन करना होगा और फिर LKGPS ऐप का लिंक ओपन हो जाएगा. ऐसा करने के बाद ऐप को इन्स्टॉल करें ले और फिर लॉगिन करें. यहां से आप गाड़ी की लोकेशन ट्रैक कर सकते हैं. ऐप में आप गाड़ी की रीडिंग भी देख सकते हैं. इसके अलावा गाड़ी के साथ अगर कोई छेड़छाड़ होती है तो तुरंत आपको अलर्ट आ जाएगा.




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*