सीएम योगी आदित्यनाथ का ऐसा बयान, बढ़ेगी हलचल, जानिए वजह




नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ सीएम योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान सामने आया है. उत्तर प्रदेश में सीएम योगी आदित्यनाथ की ओर से लगातार उग्र प्रदर्शनकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है. अब उन्होंने इस मामले में बयान देकर हलचल बढ़ाई है…

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने नागरिकता संशोधन कानून पर बड़ा बयान दिया है। सोमवार को उन्होंने इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन कानून देश की सुरक्षा के लिए उठाया गया एक ऐतिहासिक कदम है। यह कानून किसी व्यक्ति, जाति, मत, मजहब के खिलाफ नहीं है, बल्कि यह भारत के हित में भारत के प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा प्रदान करने के लिए है। सीएम योगी का बयान ऐसे समय में आया है, जब उत्तर प्रदेश में इसको लेकर हंगामा बढ़ा हुआ है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी नागरिकता कानून के खिलाफ उग्र प्रदर्शन में घायलों से मिलने पहुंच रही हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस पूरे मामले को धर्म से जोड़ दिया है। उन्होंने कहा है कि नागरिकता संशोधन कानून के बारे में झूठ और भ्रम पैदा कर अशांति फैलाने वाले बेनकाब हो गए हैं। वोट बैंक की राजनीति के लिए एक समुदाय में यह दुष्प्रचार किया जा रहा है कि यह उनसे देश की नागरिकता छीन लेने का कानून है। किंतु सभी अब सचेत हैं। सीएम योगी ने कहा कि नागरिकता कानून पाकिस्तान, बांग्लादेश व अफगानिस्तान में धार्मिक बर्बरता के प्रहार से कराहती मानवता के घावों पर संजीवनी लेप के समान है। शरणागत के प्रति प्रभु श्री राम की उदारता का अनुगमन व पीड़ित समुदायों को सम्मानित जीवन देने का मार्ग है।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का धन्यवाद दिया है। साफ है कि इस कानून के जरिए तीन मुस्लिम देशों में प्रतारित अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने के कानून को सीएम योगी ने अपनी तरफ मोड़ने की कोशिश की है। उत्तर प्रदेश में इसको लेकर पिछले दिनों हुए प्रदर्शन में काफी संख्या में लोग घायल हुए हैं। इन प्रदर्शनों में सार्वजनिक संपत्ति का बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचाया गया। इन घटनाओं में घायलों से मिलने पहुंची प्रियंका गांधी ने पिछले दिनों लखनऊ में खूब राजनीति कीं। अब सीएम योगी ने इस पूरे मामले को एक अलग ही एंगल दे दिया है।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*