4 दिन का होगा टेस्ट मैच: ICC बदलने जा रही 142 साल का इतिहास, होंगे ये नियम!




नई दिल्ली. एक दौर था जब टेस्ट क्रिकेट अकसर ड्रॉ हुआ करते थे. 5 दिन तक खेलने के बावजूद मैचों का नतीजा नहीं निकलता था, लेकिन अब हालात इससे जुदा हैं. अब टेस्ट क्रिकेट में लगभग हर मैच का नतीजा निकलता है. बहुत ही कम ऐसे मैच होते हैं जो ड्रॉ पर समाप्त होते हैं. यही नहीं, अब तो टेस्ट मैच 5 दिन से पहले ही खत्म हो जाते हैं. इस ट्रेंड को देखते हुए इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) एक बड़ा फैसला ले सकती है. खबर है कि आईसीसी टेस्ट मैच को 5 से घटाकर 4 दिन का करने पर विचार कर रही है.

चार दिन के होंगे टेस्ट मैच!
इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल साल 2020 में दुनिया के सभी बोर्ड अधिकारियों के साथ बैठक कर टेस्ट मैच के दिन घटाने पर विचार करने वाली है. ESPN Cricinfo की रिपोर्ट के मुताबिक, इस बैठक में चर्चा हो सकती है कि 2023 से होने वाली टेस्ट चैंपियनशिप के अंतर्गत होने वाले टेस्ट मैच 5 नहीं बल्कि 4 दिनों के हों. हालांकि, आईसीसी के इस प्रस्ताव का दुनियाभर के क्रिकेटर्स विरोध कर सकते हैं.

वैसे अगर टेस्ट मैच चार दिनों के हो जाते हैं और 2015 से लेकर 2023 के क्रिकेट साइकिल के मुताबिक मैच हुए तो इस सूरत में 335 दिन खाली रहेंगे, जो आईसीसी या दूसरे क्रिकेट बोर्ड के लिए बेशकीमती होंगे. इन खाली दिनों में ज्यादा टेस्ट मैच खेले जा सकते हैं. वैसे अगर टेस्ट मैचों को 4 दिवसीय किया जाता है तो एक दिन में 90 की जगह 98 ओवर फेंके जाएंगे. बता दें साल 2018 से अब तक 60 फीसदी मैच चार दिन या उससे कम वक्त में खत्म हुए हैं. इसी वजह से आईसीसी इस मुद्दे पर गंभीरता से विचार कर रही है.

साउथ अफ्रीका और जिम्बाब्वे खेल चुके हैं 4 दिवसीय टेस्टआईसीसी ने 2 साल पहले 2017 में चार दिवसीय टेस्ट मैच की इजाजत दी थी. ये टेस्ट मैच साउथ अफ्रीका और और जिम्बाब्वे के बीच खेला गया था. ये मुकाबला महज 2 दिन में खत्म हो गया था. साउथ अफ्रीका ने ये मैच पारी और 120 रन से जीता था.




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*