वायरल वीड़ियो: समुद्र के ऊपर एक मील तक उड़ा ये शख्स, कैसे मुमकिन हुआ ये सपना?




अब ये फिल्मों या सुपरहीरो  जैसी काल्पनिक बात नहीं रही कि आदमी उड़ सके. जी हां, जानें और वीडियो में देखें कि कैसे ब्रिटेन में हुए प्रदर्शन ने आदमी के उड़ने का करिश्मा किया.

अभी तक आपने फिल्मों में सुपरहीरोज़  को हवा में उड़ते देखा है, लेकिन अब कहा जाए कि ये सच में संभव है तो? कुछ लोग शायद इसे मज़ाक समझें लेकिन ये संभव है. विज्ञान, तकनीक और इंजीनियरिंग के एक अद्भुत मिश्रण ने ये करिश्मा कर दिया है. इंग्लैंड  के दक्षिणी द्वीप आइल ऑफ वाइट में इस करिश्मे का प्रदर्शन किया गया, जिसमें एक व्यक्ति ने एक ऐसा सूट पहना जैसा मार्वल यूनिवर्स में टोनी स्टार्क पहने दिखते हैं और करीब एक मील की उड़ान भरी.

ग्रैविटी इंडस्ट्री ने इस ‘आयरन मैन’ सूट को तैयार किया जिसे रिचर्ड ब्राउनिंग ने बनाया. इस करिश्माई सूट में एक हज़ार ब्रेक हॉर्सपावर पैदा करने के लिए पांच गैस टर्बाइन्स लगी हुई हैं, जिससे इस सूट को पहनकर 89 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ान भरना संभव है. इस सूट को बनाने वाले अंग्रेज़ों का दावा है कि यह दुनिया का पहला जेट सूट है और इसका पेटेंट उन्होंने हासिल कर लिया है.

कैसे मुमकिन हुआ ये सपना?
रिचर्ड ब्राउनिंग ने मीडिया को बताया कि इस सूट के लिए पहले छोटे छोटे परीक्षण किए गए थे और उसके बाद लगातार इसमें सुधार के लिए काम जारी रहा. ब्राउनिंग के मुताबिक ‘2017 में ग्रैविटी लॉंच करने के बाद हम थके नहीं और चैलेंज को कबूल किया’. ब्राउनिंग का कहना है कि अब कंपनी इस तरह के सूट्स की सीरीज़ लॉंच करने की तैयारी में है, जिस सूट की मदद से समुद्र के पानी पर 1.3 किमी की उड़ान भरना मुमकिन हुआ. देखें, बीबीसी ने इस उड़ान का वीडियो जारी किया है.

कैसे जारी हुआ पेटेंट?
यूके की इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी ऑफिस ने इस सूट के लिए पेटेंट जारी किया जिसमें उड़ान भरने वाले एक सिस्टम को पहना जा सकता है और उसके दोनों हाथों या बाज़ुओं में प्रोपल्शन सिस्टम लगा हुआ है जिसके ज़रिए उड़ान को ऑपरेट किया जाता है. इसके साथ ही पैरों के लिए प्रोपल्शन सिस्टम भी इसमें शामिल है.

Iron man suit, marvel universe, can man fly, advance technology miracle, new invention, आयरन मैन सूट, मार्वल यूनिवर्स, मनुष्य उड़ सकता है, तकनीक का कारनामा, नया आविष्कार

डेलीमेल ने ये तस्वीर छापकर इस सूट की तकनीक और इसमें गैस टर्बाइन्स के इस्तेमाल को समझाया है.

क्या है स्टेम और आगे की योजना?
उड़ने वाला ये सूट बनाने वाली कंपनी का कहना है कि वह उड़ान आयोजित करने वाले शहरों, प्रसारणकर्ताओं और स्पॉन्सर्स के साथ बातचीत कर रही है और मुमकिन है कि इसी साल इस तरह की उड़ान की किसी प्रतियोगिता यानी रेस का आयोजन हो. इसके साथ ही कंपनी ने साइन्स, टेक्नोलॉजी, इंजीनियरिंग और मैथ्स यानी स्टेम नाम से एक प्रोजेक्ट यूके के स्कूलों में शुरू किया है जिसका मकसद छात्रों में इस तरह की रचनात्मकता और इनोवेशन को बढ़ावा देना है.




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*