जगुआर और एक करोड रुपए न मिलने पर बारात नहीं लाया दूल्हा




नई दिल्ली। फरीदाबाद से एक ऐसा हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है जिसे सुनकर आप भी कहेंगे कि भले ही जमाना कितना आगे बढ़ गया हो लेकिन लोगों की सोच नहीं बदली है। फरीदाबाद में वरपक्ष की ओर से वधु पक्ष से जगुआर कार व 1 करोड़ रुपए नकद दहेज देने की डिमांड की गई। वधु पक्ष द्वारा डिमांड पूरी न करने पर वर पक्ष बारात लेकर ही नहीं पहुंचा और दुल्हन व वधु पक्ष के लोग पूरी रात मंडप में दूल्हे और बारातियों का इंतजार करते रहे। दूल्हे और बारात के न आने पर वधु पक्ष की ओर से दूल्हे व उसके परिजनों के खिलाफ दहेज मांगने सहित अन्य आरोप लगाते हुए मामला दर्ज करवाया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
दहेज के लोभी दानवों ने वधू पक्ष से दहेज में 11 लाख रुपये से मांग शुरू की थी। इसके बाद यह मांग दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही थी। यही कारण था कि शादी से पांच दिन पूर्व 16 जून को हुई लग्न सगाई की रस्म में वधू पक्ष ने 31 लाख रुपये का चेक वर पक्ष को सौंपा था। इसके बाद भी मांग लगातार बढ़ती गई। वधू पक्ष का आरोप है कि शादी से दो दिन पहले वर पक्ष ने एक करोड़ नकद व जगुआर कार की मांग करते हुए उनका 31 लाख का चेक भी वापस कर दिया था।
सगाई के अगले ही दिन दूल्हे की बहन ने वधू पक्ष को धमकी दी थी कि उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो वे बारात लेकर नहीं आएंगे। काफी मान-मनौव्वल के बाद भी वर पक्ष नहीं माना और बारात नहीं आई। युवती के पिता की शिकायत पर थाना सराय ख्वाजा पुलिस ने दूल्हे स्वपनिल, उसकी मां मीनाक्षी, बहनें कोमल, ज्योति, चचेरी बहन श्वेता, ममेरा भाई पवन के खिलाफ दहेज निरोधक अधिनियम सहित विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है। मामले की जांच डीएसपी सराय ख्वाजा यशपाल खटाना कर रहे हैं।
सेक्टर-35 निवासी खजान सिंह की बेटी मोहिनी की शादी कापसहेड़ा, दिल्ली निवासी स्वपनिल के साथ तय हुई थी। 20 जून को बारात आनी थी। 16 जून को लगन सगाई की रस्म भी पूरी कर ली गई। सगाई में 31 लाख का चेक, जेवर, कपड़े आदि वधू पक्ष ने वर पक्ष को दिए थे। इसके बाद से ही दहेज में एक करोड़ नकद और जगुआर कार की मांग की जाने लगी। मांग पूरी नहीं हुई तो 20 जून को वर पक्ष बारात लेकर नहीं पहुंचा।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*