महाराष्ट्र LIVE: देवेंद्र फडणवीस इस्‍तीफा देने के बाद बोले- उद्धव ने मेरा फोन,,,




मुंबई. महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के परिणाम आए आज दो हफ्ते हो चुके हैं, लेकिन अभी भी राज्य में सरकार गठन को लेकर किसी भी पार्टियों के बीच समझौता होता नहीं दिख रहा है. वहीं, देवेंद्र फडणवीस  ने आज राजभवन में राज्‍यपाल से मिलकर मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया है. महाराष्ट्र में मचे सियासी घमासान के बीच कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया है कि कुछ नेताओं ने कांग्रेस के विधायकों को तोड़ने के लिए 25 करोड़ का ऑफर दिया है. हॉर्स ट्रेडिंग के डर से कांग्रेस ने अपने विधायकों को मुंबई से जयपुर भेज दिया है. सभी कांग्रेस विधायकों को जयपुर के ‌एक रिजॉर्ट में ठहराया गया है.

इसी बीच खबर आ रही है कि बीजेपी के केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी आज शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मिलने जा सकते हैं. उधर शिवसेना के नेता संजय राउत ने साफ कहा है कि अगर बीजेपी सीएम पद देने को तैयार हो तो ही उनसे मिलने के लिए आए. खबर है कि शिवसेना (Shiv Sena)-बीजेपी (BJP) के बीच अभी भी किसी तरह की बातचीत नहीं हुई हैं. हालांकि, महाराष्ट्र की बदलती राजनीति पर राज्यपाल लगातार नजर जमाए हुए हैं.

इस बीच कांग्रेस ने हॉर्स ट्रेडिंग की आशंका जाहिर की है. कांग्रेस का कहना है कि उनके विधायकों को तोड़ने की कोशिश हो रही है. खबर है कि कांग्रेस अपने विधायकों को जयपुर के किसी होटल में शिफ्ट कर रही है. इसके पहले हार्स ट्रेडिंग के डर से शिवसेना ने भी अपने विधायकों को होटल में शिफ्ट करा दिया है.
फडणवीस ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान महाराष्‍ट्र में हमें बड़ा जनादेश मिला था. विधानसभा में भी हमें सहयोगी के रूप में चुनावों का सामना करना पड़ा. बीजेपी शिवसेना गठबंधन को स्‍पष्‍ट जनादेश मिला. विधानसभा चुनाव में हम 160 से ज्‍यादा सीटें जीतने में सफल रहे. जबकि राज्‍य में बीजेपी 105 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी.

फडणवीस ने कहा कि ढाई-ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद को लेकर कोई वादा नहीं किया गया था. कभी भी मेरे सामने ढाई साल सीएम पद को लेकर कोई चर्चा नहीं हुई थी. उद्धव ठाकरे ने सरकार बनाने की बात की थी. महाराष्ट्र में जनादेश गठबंधन को मिला था.
फडणवीस ने कहा कि किसानों को पानी की सुविधा दिलाने के लिए हमने योजनाएं चलाई. इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर पर हमने बड़ा काम किया. उन्‍होने शिवसेना पर आरोप लगाते हुए कहा कि मैंने फोन किया था, उद्धव ने मेरा फोन नहीं उठाया.

फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट में हर संकट का सामना साहस के साथ किया. किसानों के साथ राज्य सरकार ने हमेशा न्‍याय किया और उनको ध्‍यान में रखकर कई योजनाएं चलाई गई.

फडणवीस ने कहा कि राज्यपाल को हमने इस्तीफा दे दिया है. पिछले पांच साल हमने राज्‍य की सेवा की. हमारे नेता मोदी जी, अमित शाह और पार्टी के सभी वरिष्‍ठ जनों का साभार. हमने पारदर्शी तरीके से सरकार चलाई.

इस्‍तीफा देने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने जनता का धन्‍यवाद दिया कि उन्‍हें पांच साल तक सरकार चलाने का मौका मिला. पांच साल तक सरकार चलाने का मौका देने के लिए उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह का भी धन्‍यवाद किया.

महाराष्‍ट्र में सरकार गठन को लेकर अभी भी गतिरोध जारी है. इस बीच देवेंद्र फडणवीस बीजेपी नेताओं के साथ राजभवन पहुंचे. देवेंद्र फडणवीस मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया.

शिवसेना नेता संजय राउत आज शाम एनसीपी चीफ शरद पवार से मुलाकात करेंगे.

शिवसेना नेता सुनील प्रभु ने कहा कि उद्धव ठाकरे आज शाम होटल रंगशारदा में विधायकों से मुलाकात करेंगे.

केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले से मिलने के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा है कि शिवसेना और बीजेपी को बिना समय बर्बाद किए साथ आना चाहिए और महाराष्ट्र में सरकार का गठन करना चाहिए.

एनसीपी चीफ शरद पवार ने एक बार फिर कहा है कि महाराष्ट्र की जनता ने बीजेपी और शिवसेना को जनादेश दिया है. उन्हें इसका सम्मान करते हुए सरकार बनाना चाहिए.

नितिन गडकरी ने कहा, दिवंगत नेता बालासाहेब ठाकरे ने एक बार शिवसेना-भाजपा के बीच व्यवस्था पर जोर देते हुए कहा था कि अधिक निर्वाचित विधायकों वाली पार्टी का ही मुख्यमंत्री बनेगा.

नितिन गडकरी ने कहा है कि मेरी जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र में विभागों के बंटवारे को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच किसी भी तरह का कोई समझौता नहीं हुआ था.

बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार बोले, बीजेपी और एनसीपी ने हमपर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है. वे इन आरोपों को 48 घंटे में साबित करें वर्ना महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगें.

हॉर्स ट्रेडिंग के डर से कांग्रेस ने अपने विधायकों को मुंबई से जयपुर भेज दिया है. सभी कांग्रेस विधायकों को जयपुर के ‌एक रिजॉर्ट में ठहराया गया है.
बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुधीर मुनगंटीवार ने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी ने बीजेपी नेताओं पर खरीद-फरोख्त का आरोप लगाया है. वे इन आरोपों को 48 घंटे के अंदर साबित करें वर्ना महाराष्ट्र की जनता से माफी मांगें.

 




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*