पं.दीनदयाल को अंतिम व्यक्ति के आगे बढने की रहती थी चिंता: बेबी रानी मौर्य




तीन दिवसीय स्‍मृति महोत्‍सव का उत्तराखंड की राज्यपाल ने किया शुभारंभ
फरह(मथुरा)। पंडित दीनदयाल उपाध्याय का 49 वां स्मृति 3 दिवसीय महोत्सव दीनदयाल धाम नगला चंद्रभान फरह में शुरू हो गया। उत्तराखंड की राज्यपाल बेबीरानी मौर्य ने समारोह का उद्घाटन किया। उन्होंने यहां पहुंचकर सबसे पहले पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इसके बाद बच्चों द्वारा बनाई गई रंगोली का अवलोकन किया। उन्होंने रंगोली देख बच्चों का उत्साहवर्धन किया। इस दौरान लगाए गए मेले में भी किसानों ने कृषि संबंधी जानकारी जुटाई। मेले में किसानों को कृषि यंत्रों पर छूट की व्यवस्था की गई है। इसे लेकर किसानों में उत्साह है। वह फरह में मेले में कृषि यंत्रों की खरीद को भी पहुंच रहे हैं।


उत्तराखंड की राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बताया कि पंडित दीनदयाल उपाध्याय का जन्मदिन बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जा रहा है । मैं पिछले 25 साल से इस कार्यक्रम में आती रही हूं । पंडित दीनदयाल एक ऐसे इंसान थे, जो कि वह उसकी चिंता करते थे । जो पंक्ति में सबसे पीछे बैठता था । और वह चिंता करते थे पीछे बैठा व्यक्ति कैसे लाइन में आए और कैसे आगे बढ़े । उनके मन में कोई जातिवाद नहीं था, उनके मन में कोई भेदभाव नहीं था उनके अंदर सबके लिए प्रेम था ।पंडित दीनदयाल उपाध्याय ने एक स्वच्छ राजनीति की स्थापना की थी । उसी स्वच्छ राजनीति के कारण में आज उत्तराखंड की राज्यपाल बनी हूं । इस अवसर पर विधायक कारिंदा सिंह, दीनदयाल धाम के निदेशक राजेन्द्र सिंह आदि उपस्थित थे। दूसरी ओर वृंदावन में नगर के भाजपाईयो द्वारा भारतीय जनसंघ के संस्थापक युग पुरुष पंडित दीनदयाल उपाध्याय का 103 वां जन्मोत्सव हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। सर्वप्रथम कार्यकर्ताओं ने उनके चित्रपट पर माल्यार्पण किया। तदोपरान्त सभी ने उनके आदर्शों पर चलने का संकल्प लिया। इस दौरान नगर अध्यक्ष राजेश पंडित, पूर्व नगर अध्यक्ष डॉ. रूप किशोर वर्मा, श्रीकृष्ण सरस्, योगेश योगीराज, पंकज अरोड़ा, हेमंत भारती, वैभब अग्रवाल, राहुल अधिकारी, रसिक बल्लभ नागार्च आदि के अलावा महिला कार्यकत्री भी उपस्थित रही।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*