सनातन परंपरा ने सेवा को ही धर्म माना: योगी आदित्यनाथ




 

वृंदावन(मथुरा)।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सनातन परंपरा ने सेवा को ही धर्म माना है। स्वामी विवेकानन्द ने भी धर्म को सेवा मानकर कार्य किया। कैंसर जैसी बीमारी के लिए ये अस्पताल बहुत उपयोगी साबित होगा। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि राम के नाम पर पूरे देश में जो सेवा का मिशन चल रहा है। यहां दूसरे राम द्वारा उसे एक नई गति दी जा रही है। यह अदभुत संयोग है।
गुरुवार को मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने वृंदावन में रामकृष्‍ण मिशन सेवाश्रम में शारदा ब्‍लॉक के उदघाटन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पूरे देश में लागू की गई आयुष्‍मान भारत योजना तभी सार्थक और सफल हो सकेगी जब सरकारी संस्‍थाओं के साथ धर्मार्थ संस्‍थाएं भी आगे आएंगी। रामकृष्‍ण मिशन उन्‍हीं चुनिंदा धर्मार्थ संस्‍थाओं में से है जो गरीम मरीजों के स्‍वास्‍थ्‍य की दिशा में सार्थक पहल कर रहा है।
उन्‍होंने कहा कि शारदा ब्‍लॉक में 300 बैड का हॉस्‍पीटल बनाया गया है। यहां मरीजों के स्‍वास्‍थ के लिए बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। रामकृष्‍ण मिशन के सभी पदाधिकारियों को दिल से से धन्‍यवाद और बधाई। वृंदावनवासिययों को बेहतरीन केंद्र मिला है।कैंसर से पीड़ित मरीज की सेवा से बढ़कर ईश्वर की दूसरी सेवा नहीं हो सकती है। रामकृष्ण मिशन इस ओर बेहतर कार्य कर रहा है। इसके लिए मिशन की जितनी प्रशंसा की जाए कम है।
वास्‍तव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आयुष्‍मान भारत लागू करने के बाद स्‍वास्‍थ्‍य की सुविधाएं हरेक व्‍यक्ति को प्राप्‍त करने के पर्याप्‍त साधन हैं। लेकिन इस प्रकार की संस्‍थाएं स्‍थापित करना जो सही हों, सस्‍ती हों और विश्‍वसनीय हों इसमें सरकारी संस्‍थाओं के साथ धर्मार्थ संस्‍थाओं का बड़ा योगदान हो सकता है। उनकी बड़ी भूमिका हो सकती है। इसमें रामकृष्‍ण मिशन का सहयोग सराहनीय है। रामकृष्‍ण मिशन सेवाश्रम के इस हॉस्‍पीटल में 300 बैड के शारदा ब्‍लॉक का उदघाटन राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा किया गया। ये हॉस्‍पीटल पूरे क्षेत्र में कैंसर के इलाज की बेहतरीन सुविधाओं को उपलब्‍ध कराने में बड़ी भूमिका का निर्वहन करेगा।




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*