बौखलाहट: चंद्रयान मिशन—2 से संपर्क टूटने पर पाकिस्तान मंत्री ने की यह बेहूदा टिप्पणी!




नई दिल्ली। चंद्रयान-2 मिशन की लैंडिंग से ठीक पहले उससे संपर्क टूटने के बाद से जब थोड़ी देर तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई तो पड़ोसी पाकिस्तान के विज्ञान और तकनीकी मंत्री चौधरी फवाद हुसैन ने बेहूदा टिप्पणी कर दी. उन्होंने ट्वीट किया कि, ‘…. जो काम आता नहीं पंगा नहीं लेते ना…. डियर “एंडिया”. उन्होंने मिशन एंड होने के कारण व्यंग्य में इंडिया को “एंडिया” लिख दिया.

जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा दिलाने वाले आर्टिकल 370 के समाप्त होने के बाद पाकिस्तान बौखला गया था. पाकिस्तान ने भारत सरकार को युद्ध की धमकी भी दी थी. इससे पहले पाकिस्तानी सरकार के मंत्री और इमरान खान के करीबी फवाद चौधरी ने कहा था कि, “सांसदों को बेकार के विषयों पर आपस में लड़ने की जगह भारत काे मुंहतोड़ जवाब देना होगा. हमें युद्ध के लिए तैयार रहने की जरूरत है.” पाकिस्तान की नेशनल असेम्बली में कश्मीर से अनुच्छेद 370 पर चर्चा आयोजित करने के लिए संयुक्त सत्र बुलाया गया था, जिसमें प्रधानमंत्री इमरान खान खुद ही अनुपस्थिति रहे. इस कारण विपक्ष ने सदन में जबरदस्त हंगामा किया, जिसके बाद संसद की कार्यवाही रोक दी गई और अध्यक्ष अपने कक्ष में लौट गए.





फवाद ने राहुल को परनाना नेहरू से सीखने को कहा था
फवाद हुसैन चौधरी ने राहुल गांधी पर भी निशाना साधते हुए कहा था कि ‘वो अपनी राजनीति को लेकर बेहद कंफ्यूज हैं और उन्हें अपने परनाना जवाहरलाल नेहरू से सीखने की जरूरत है. दरअसल राहुल गांधी ने बुधवार सुबह ट्वीट कर कहा था कि पाकिस्तान को कश्मीर मुद्दे में दखल देने का कोई हक नहीं है. उनके इसी बयान पर पाकिस्तान के मंत्री भड़क गए थे.

फवाद ने राहुल से कहा था, आप अपने परनाना से सीखें
फवाद चौधरी ने राहुल गांधी के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा था, ‘आपकी राजनीति की समस्‍या कन्‍फ्यूजन है. आपको सच के साथ खड़ा होना चाहिए. आप अपने परनाना से सीखें, जो भारत में धर्मनिरपेक्षता और उदार सोच की पहचान थे. फवाद ने अपने ट्वीट में शेर भी लिखा था, ‘ये दाग़ दाग़ उजाला ये शब-गज़ीदा सहर, वो इंतिज़ार था जिस का ये वो सहर तो नहीं.’

कश्मीर में हस्तक्षेप करने का पाक को कोई अधिकार नहीं
बता दें पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र को एक चिट्ठी लिखी जिसमें उनके एक बयान का हवाला देते हुए कहा था कि राहुल गांधी ने भी माना है कि ‘कश्मीर में लोग मर रहे हैं.’ पाकिस्तान के इस कदम के बाद राहुल ने बुधवार को कहा कि ‘मैं इस सरकार से कई मुद्दों पर असहमत हूं, लेकिन मैं ये पूरी तरह साफ कर देना चाहता हूं कि कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा है और इसमें पाकिस्तान या किसी अन्य देश की ओर से हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है.’ राहुल ने कहा कि ‘जम्मू-कश्मीर में हिंसा हुई है, क्योंकि पाकिस्तान वहां लोगों को उकसा रहा और हिंसा फैला रहा है. पाकिस्तान को दुनिया भर में आतंकवाद का प्रमुख समर्थक माना जाता है.’




Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*